हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री – करियर है कमाल

हॉस्पिटेलिटी मैनेजमेंट मे बढ रहा है युवाओं का रुझान

आजकल अधिकांश इंडियन प्रोफेशनल्स का रुझान हॉस्पिटेलिटी मैनेजमेंट कोर्स की तरफ है। हॉस्पिटेलिटी मैनेजमेंट फील्ड में सैलरी पैकेज भी काफी बेहतरीन दिया जाता है। इस कोर्स में रोजगार की संभावनाये असीमित है । हॉस्पिटेलिटी मैनेजमेंट कोर्स होटल तथा हॉस्पिटेलिटी सर्विस के विभन्न पहलुओं जैसे सेल्स एंड मार्केटिंग फूड एण्ड बेवरेज फ्रंट आफिस अकांउटिंग फूड प्रोडक्शन हाउसकीपिंग और कई किचन स्किल को कवर करने में मदद करता है ।
क्या है हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री |

Also Read:- हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री में अच्छे करियर की अपार संभावनाएं

क्या है हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री

अंग्रजी का हॉस्पिटेलिटी शब्द लैटिन के हॉस्पिटलाइटिस से विकसित हुआ है जो अतिथि और मेजबान के बीच के संबध को दर्शाते है। एक उद्योग और शिक्षा के रुप में इसकी प्रासंगिकता लगातार बढ़ रही है। कोरोना में बुरी तरह प्रभावित होने के बाद भी हॉस्पिटैलिटी दुनिया में सबसे तेजी से उभरने वाली इंडस्ट्री है। जिसके कारण ही करियर विकल्प के रुप में इस कोर्स की डिमांड तेजी से बढ़ रही है।

हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री में अच्छे करियर की अपार संभावनाएं

हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री के बगैर आज की तारीख में टूरिज्म की कल्पना नहीं की जा सकती। इसलिए पर्यटन है, तो होटल भी रहेंगे। लोगों के घूमने फिरने के बढ़ते शौक को देखते हुए इस इंडस्ट्री में जॉब्स में बहुत मौके मिलते है। हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री दुनिया में सबसे तेजी से उभरने वाला इंडस्ट्री है। जिसके परिणाम स्वरुप इस फील्ड में 12वी के बाद करियर विकल्प के साथ-साथ इसके कोर्स वर्टीकल के भी डिमांड तेजी से बढ़ रहे हैं। हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री को एक कामयाब एवं करियर विकल्प के रूप में देखा जाने लगा है। 12 वीं कक्षा के किसी भी विषय वाले छात्र हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री मे प्रवेशं लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं। भारत के सर्वश्रेष्ठ संस्थानों में अक्सर प्रवेश परीक्षा होती है। अभ्यर्थियों को विशेष कॉलेज में प्रवेश पाने में सक्षम होने के लिए परीक्षाओं को पास करना आवश्यक है। सबसे प्रसिद्ध परीक्षा एनसीएचएमसीटी जेईई या नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी संयुक्त प्रवेश परीक्षा है।

होटल कोर्स अवधि क्या है?

अगर आप अपना करियर होटल मैनेजमेंट में बनाना चाहते है तो आपको होटल मैनेजमेंट में ग्रेजुएशन करना होगा। ये कोर्स 3 साल का है। होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा कोर्सेज भी कराये जाते है HM मे डिप्लोमा 1 वर्ष का होता है। अगर आप होटल मैनेजमेंट कोर्स किसी प्रसिद्व कॉलेज या यूनिर्वसिटी से करना चाहते है तो इसके लिए आपको एंट्रेस एग्जाम क्वालीफाई करना होगा।

आतिथ्य उद्योग की अपेक्षित वृद्धि दर क्या है?

पिछले दो दशकों में, आतिथ्य उद्योग ने महत्वपूर्ण वृद्धि का अनुभव किया है, 2016 में अंतर्राष्ट्रीय आगमन 600 मिलियन से दोगुना होकर 1.4 बिलियन से अधिक हो गया है। 2018 में, यात्रा और पर्यटन उद्योग ने वैश्विक अर्थव्यवस्था की तुलना में 3.9ः की वृद्धि देखी।

2023 तक आतिथ्य उद्योग की अपेक्षित वृद्धि दर क्या है?

भारत में होटल उद्योग के 2023 के अंत तक INR 1,210.87 Bn के मूल्य तक पहुंचने की उम्मीद है, जो कि 2018-2023 की अवधि के दौरान, 13% की चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (CGAR) में विस्तार कर रहा है, जिसका कारण विदेशी पर्यटको और व्यापार प्रतिनिधि की उच्च आगमन दर है।

भविष्य में आतिथ्य उद्योग का रुझान क्या है

आतिथ्य उद्योग के लिए आने वाले सबसे बड़े रुझान स्थिरता, वैश्विक परिप्रेक्ष्य, नए आवास विकल्पों के साथ संतुलन खोजना और बढ़ती मांग हैं। आतिथ्य उद्योग कितना पैसा कमाता है? वैश्विक अर्थव्यवस्था में $7.6 ट्रिलियन।

हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट- उद्योग में करियर का सर्वोत्तम अवसर

यदि आप वास्तव मे हॉस्पिटेलिटी मैनेजमेंट में सर्वश्रेष्ठ पदों पर पहुॅचना चाहतें है तो आपको हेरीटेज इंस्टीटयूट ऑफ होटल एण्ड टूरिज्म जैसे प्रतिष्ठित संस्थान से हॉस्पिटेलिटी मैनेजमेंट में स्नातक की डिग्री की आवश्यकता होगी। हेरिटेज इंस्टीटयूट ऑफ होटल एण्ड टूरिज्म को राष्ट्रीय होटल प्रबन्धन एंव केटरिंग तकनॉलाजी परिषद् (पर्यटन मन्त्रालय भारत सरकार) द्वारा डिग्री कोर्स हेतु मान्यता प्राप्त है।

हेरिटेज इंस्टीटयूट ऑफ होटल एण्ड टूरिज्म को नियोक्ता प्रतिष्ठा और शिक्षाविदों के लिए दुनिया में सर्वश्रेष्ठ होटल मैनेजमेंट कॉलेज का दर्जा दिया गया है। हेरीटेज इंस्टीटयूट में वक्त और जरुरत के अनुसार पाठयक्रमों के प्रषिक्षण एंव अध्यापन प्रक्रिया में उपयुक्त बदलाव किया जाता हैं ताकि छात्रों को इस फील्ड की तमाम नयी बातों से अवगत कराया जा सकें। यदि आपके पास इस कॉलेज में पेश किए जा रहे पाठ्यक्रमों के बारे में या सामान्य बुनियादी ढांचे के बारे में कोई और प्रश्न हैं, तो कृपया हमसे 1800 5323 000 पर संपर्क करें ( टोल फ्री) +91-999799501 अधिक जानकारी के लिए कृपया हमारी वेबसाइट देखे |