Login

Lost your password?
Don't have an account? Sign Up

शानदार करियर बनाए होटल मैनेजमेंट में

करियर की दृष्टि से होटल इंडस्ट्री एक बेहतरीन फील्ड है। होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई के बाद इस इंडस्ट्री से जुड़ा जा सकता है। पहले होटल मैनेजमेंट का मतलब सिर्फ यही माना जाता था कि इस कोर्स को करके सिर्फ शेफ बना जा सकता है। लोग ऐसा सोचते थे कि शेफ बन भी गए तो क्या, यह तो बावर्ची का काम है। लेकिन आज शेफ के पेशे ने इज्जत, शोहरत और कमाई के साथ साथ समाज में अपनी एक अलग छवि बना ली है। इतना ही नहीं, होटल मैनेजमेंट के कोर्स ने शेफ के अलावा और भी कई तरह के करियर विकल्पों को जन्म दिया है। होटल इंडस्ट्री का दायरा आज काफी बढ़ गया है। आज इस इंडस्ट्री में मैनेजमेंट, एडमिनिस्ट्रेशन, हाउसकीपिंग, मार्केटिंग, मेंटेनेंस जैसे कई विभाग हैं, जिनमें स्किल्ड प्रोफेशनल्स की काफी डिमांड है। यह क्षेत्र ग्लैमरस होने के साथ साथ काम में सुकून भी प्रदान करता है।

Visit: Heritage Institute of Hotel & Tourism Agra & Shimla

ईमानदारी और कड़ी मेहनत की है जरूरी:

ग्लोबलाइजेशन के इस दौर में होटल इंडस्ट्री काफी तेजी से बढ़ रही है। आज होटल इंडस्ट्री में कई तरह के जॉब विकल्प हैं, जो युवाओं के बेहतर भविष्य का निर्माण कर सकते हैं। इस इंडस्ट्री में आने वाले नए युवाओं के लिए जरूरी है कि वे ईमानदारी और कड़ी मेहनत के साथ काम करें। प्रशिक्षण के दौरान सभी बातों को अच्छे से सीखें और हर समय किसी भी तरह की चुनौती से निबटने के लिए तैयार रहें। इस क्षेत्र में सफलता के लिए प्रतिबद्धता और ईमानदारी बेहद आवश्यक है। इन सबके अलावा फूड फैशन और होटल इंडस्ट्री में आ रहे नए बदलावों से अपडेट रहें। इस इंडस्ट्री में हमेशा वर्ल्डवाइड चेंजेज आते रहते हैं। अपने आप को इंडस्ट्री में बनाए रखने के लिए इन सबके बारे में हर पल अपटूडेट रहना जरूरी है, जिसे नई टेक्नोलॉजी और इंटरनेट ने काफी आसान बना दिया है। होटल मैनेजमेंट में कई सारे विकल्प हैं। एक बात हमेशा ध्यान रखें कि आप अपनी पसंद के ही विकल्प को चुनें। अगर आपको फूड आइटम्स के साथ नए-नए एक्सपेरिमेंट्स करने में मजा आता है तो आप शेफ बन सकते हैं, लेकिन अगर आपकी मैनेजमेंट स्किल अच्छी है तो आप प्रबंधन का काम देख सकते हैं। इसके अलावा और भी कई विकल्प हैं, जो अपनी रुचि के अनुसार चुने जा सकते हैं।

Also Read:

एजुकेशनल क्वालिफिकेशन

होटल मैनेजमेंट कोर्स में एडमिशन के लिए आपको कम से कम 12वीं पास होना चाहिए। आपका नेचर फ्रेंडली और सपोर्टिंग होना चाहिए। इसके साथ आप में दूसरे के साथ मिल-जुलकर काम करने की आदत का होना बहुत जरूरी है। इसके अलावा, आपकी क्रिएटिव सेंस आपको इस फील्ड में आगे बढ़ाने के लिए जरूरी है। आप में उत्साह, चतुराई, कल्पना, शीलता, विपरीत हालात में काम करने की क्षमता भी होना जरूरी है।

एडमिशन प्रोसेस

होटल मैनेजमेंट में कई तरह के कोर्स उपलब्ध हैं, जो 12वीं और ग्रेजुएशन के बाद किए जा सकते हैं। इन कोर्स की अवधि 6 महीने से लेकर 3 साल तक हो सकती है। भारत में होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई के लिए नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड केटरिंग टेक्नोलॉजी एक बेहतरीन सरकारी संस्था है। इसकी स्थापना 1982 में हुई थी। देश में बीएससी (हॉस्पिटेलिटी एंड होटल एडमिनिस्ट्रेशन) के तीन वर्षीय डिग्री कोर्स को काउंसिल और इग्नू संयुक्त रूप से संचालित कर रहे हैं। लेकिन अगर आप ग्रेजुएशन के बाद होटल इंडस्ट्री में करियर बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आप एमएससी इन होटल मैनेजमेंट और पीजी डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट कोर्स कर सकते हैं। ज्यादातर संस्थान ऑल इंडिया एडमिशन टेस्ट और इंटरव्यू के आधार पर चयन करते हैं। इंटरव्यू में आवेदक की बुद्धिमत्ता, जनरल नॉलेज और अंग्रेजी की क्षमता परखी जाती है।

होटल इंडस्ट्री में विकल्प

  • मैनेजमेंटः किसी भी होटल को अच्छी तरह चलाने की पूरी जिम्मेदारी मैनेजमेंट पर होती है। हर विभाग के कामकाज के बेहतर संचालन के लिए अलग-अलग मैनेजर होते हैं।
  • फ्रंट ऑफिसः फ्रंट ऑफिस का काम अतिथियों का स्वागत करना होता है। फ्रंट ऑफिस के अंतर्गत रिसेप्शन, कस्टमर हेल्प डिपार्टमेंट, सूचना डेस्क और रिजर्वेशन आदि आते हैं।
  • फूड एंड बेवरेजेजः इसमें तीन विभाग शामिल होते हैं- किचन, स्टीवर्ड और फूड सर्विस विभाग। इस विभाग में खाना बनाने से लेकर परोसने तक का काम होता है।
  • हाउसकीपिंगः होटल की ठीक तरह से देखरेख के लिए हाउसकीपिंग विभाग की जरूरत होती है। कमरों, मीटिंग हॉल, लाउंज, लॉबी, रेस्तरां आदि की साफ-सफाई की जिम्मेदारी इसी विभाग के पास होती है।
  • मार्केटिंगः होटल में उपलब्ध सेवाओं और सुविधाओं की मार्केटिंग होटल मैनेजमेंट का अहम पहलू है। होटल की बेहतर पैकेजिंग से आकर्षित होकर जितने ग्राहक वहां आते हैं, वे होटल को न सिर्फ बिजनेस देते हैं, बल्कि दूसरों को भी होटल के बारे में बताते हैं। इन सबके अलावा होटल में कई और विभाग होते हैं, जो दूसरे संगठनों या कंपनियों में भी होते हैं, जैसे अकाउंट्स, सिक्योरिटी, मेंटेनेंस इत्यादि।

For more details please visit: Agra Campus | Shimla Campus | Online Registration Form

वेतन

होटल मैनेजमेंट के क्षेत्र में बतौर ट्रेनी शुरुआती वेतन 18,000 रुपये से 25,000 रुपये होता है। यह वेतन पद, काम और अनुभव के आधार पर बढ़ता जाता है।

कहां से करें कोर्स:

वैसे तो आज होटेल मैनेजमेंट का कोर्स सरकारी और गैर सरकारी इंस्टीट्यूट कराते है, साथ ही कई बड़े होटेल भी होटेल मैनेजमेंट का कोर्स कराने लगे हैं। इसमें कुछ खास हैः

  1. ताज ग्रुप इंस्टीट्यूट ऑफ होटेल मैनेजमेंट, औरंगाबाद
  2. हेरिटेज इंस्टीट्यूट ऑफ होटल एंड टूरिज्म आई.एच.एम. आगरा,शिमला
  3. ओबेराय स्कूल ऑफ होटेल ऐंड टूरिज्म मैनेजमेंट, कोलकाता
  4. इंस्टीट्यूट ऑफ होटेल मैनेजमेंट कैटरिंग टेक्नॉलजी ऐंड न्यूट्रिशन मुख्यालय एनसीएचएमसीटी और पूसा इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली

About the Author:

DK. Singh

DK. SINGH
President
Heritage Institute of Hotel & Tourism
Agra & Shimla

https://www.hihtworld.com/agra

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*