hotel management

होटल मैनेजमेंट में बढते रोजगार के अवसर

पर्यटन उद्योग के विस्तार के कारण होटल इंडस्ट्री को काफी बल मिला है घूमने – फिरने के प्रति लोगो की बढती रुचि के कारण होटल इंडस्ट्री को काफी प्रोत्साहन मिला है। होटल इंडस्ट्री सीधे तौर पर टूरिज्म से जुडी होती है। जितने अधिक पर्यटक देश में आयेगे होटल इंडस्ट्री को उतना ही बढावा मिलेगा। यही कारण है कि होटल मैनेजमेंट सेक्टर में रोजगार के अवसरों में काफी इजाफा हुआ है।

विभिन्न कोर्सेज

12 वीं पास छात्र डिग्री या डिप्लोमा कोर्स करके इस फील्ड में कैरियर की शुरुआत कर सकते है इस तरह के कुछ कोर्सेज है- बैचलर डिग्री इन हाॅस्पिटैलिटी साइंस, बीए इन होटल मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन कैटरिंग, डिप्लोमा इन फ्रंट ऑफिस आदि । इन कोर्सेज की अवधि 6 महीने से 3 साल तक होती हैं। ग्रेजुएशन के बाद एमएससी इन होटल मैनेजमेंट डिग्री कोर्स कर सकते है ज्यादातर संस्थान ऑल इंडिया एडमिशन टेस्ट और इंटरव्यू के आधार पर छात्रों का चयन करते है। इस चयन प्रक्रिया में आपकी बुद्धिमत्ता सामान्य विज्ञान और अंग्रेजी की क्षमता को परखा जाता है। Please Visit our Courses in Hospitality Management:

होटल मैनेजमेंट में प्रैक्टिकल नॉलेज जरूरी

होटल मैनेजमेंट कोर्स में स्टूडेंट की संख्या में हर साल बढोतरी हो रही है। टूरिज्म और कापोरेट के लागातार बढने से होटल मैनेजमेंट में डिग्रीधारी लोेगो की मांग में भी इजाफा हुआ हैं। होटल मैनेजमेंट के लिए प्रैक्टिकल नाॅलेज जरुरी है इसलिए स्टूडेंट अपनी स्टडी के साथ-साथ प्रैक्टिकल नाॅलेज के लिए ट्रेनिंग लेते हैं। ट्रेनिंग में अच्छा परर्फोमेंस जाॅब दिलाने मे मददगार होता हैं। होटल में होने वाले तमाम तरह के काम की बारीकियों से रुबरु होने का मौका भी मिलता है होटल मैनेजमेंट में ऑन द जाॅब ट्रेनिंग बहुत मायने रखती है। होटल मैनेजमेंट के लिए थ्योरी, प्रैक्टिकल नाॅलेज के साथ साथ आकर्शक व्यक्तिव होना भी जरुरी है। काॅम्पटीशन के दौर में कस्टमर के लिए नए तौर तरीके अपनाए जा रहे है, ऐसे मे होटल मैनेजमेंट के स्टूडेंट को आधुनिक ज्ञान के साथ अलग-अलग देशों की कल्चरल स्टडी भी होनी चाहिए।

Also Visit our Hospitality Management & Tourism Campus Area: Shimla Campus | Agra Campus

अवसर

आप मैनेजमेंट ट्रेनी, होटल  ऑपरेशन ट्रेनी, गेस्ट या कस्टमर रिलेशन एग्जीक्यूटिव, हाउस कीपिंग मैनेजमेंट ट्रेनी, हॉस्पिटल एंड इंस्टीट्यूशनल कैटरिगं एग्जीक्यूटिव, होटल समूहों में मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव आदि के रुप में काम कर सकते हैं। नेशनल व इंटरनेशनल एयरलाइंस में केबिन क्रू में भी काम मिल सकता है।

संस्थान

  • हेरिटेज इंस्टीट्यूट ऑफ होटल एण्ड टूरिज्म आई.एच.एम. आगरा,शिमला
  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट एण्ड कैटरिंग टेक्नोलाजी एण्ड न्यूटोशन, पूसा. दिलली।
  • वेबसाइट- www.hihtworld.com, टोल फ्री नंबर – 18005323000
  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट एण्ड कैटरिंग टेक्नोलाजी, आई.एच एम. मुंबई।
  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, लखनऊ

About the Author:

D K Singh

D.K. SINGH
President
Heritage Institute of hotel & Tourism
Agra & Shimla

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top