हाॅस्पिटेलिटी इंडस्ट्री में अच्छे करियर की अपार संभावनाएं

ऐसा अक्सर होता है कि 12 वीं के परीक्षा के बाद क्या किया जाये? इसका हम उचित निर्णय नहीं ले पाने के कारण परेशानी का सामना करना पड़ता है। खासतौर से तब जब यह निर्णय हमारे भविश्य पर प्रभाव डालता है। इनमें से एक महत्वपूर्ण निर्णय है – अपने लिये सही समय पर सही करियर का चुनाव करना। Visit: Best Hotel Management Institute in UP India

हाॅस्पिटेलिटी इंडस्ट्री को एक कामयाब एवं कॅरियर विकल्प के रूप में देखा जाने लगा है। 12 वीं कक्षा के किसी भी विषय वाले छात्र हाॅस्पिटेलिटी इंडस्ट्री मे प्रवेशं लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं। भारत के सर्वश्रेष्ठ संस्थानों में अक्सर प्रवेश परीक्षा होती है। अभ्यर्थियों को विशेष कॉलेज में प्रवेश पाने में सक्षम होने के लिए परीक्षाओं को पास करना आवश्यक है। सबसे प्रसिद्ध परीक्षा एनसीएचएमसीटी जेईई या नेशनल काउंसिल फाॅर होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी संयुक्त प्रवेश परीक्षा है। इसकी प्रवेश परीक्षा के आवेदन शुरू हो गए है।

भारत के विकास में पर्यटन एंव हाॅस्पिटेलिटी क्षेत्र की भूमिका

कुछ सेक्टर्स ऐसे है जिनमें अवसरों की कोई कमी नही है हाॅस्पिटेलिटी सेक्टर ऐसा ही एक सेक्टर हैं। इस फील्ड में जितनी जरुरत है उसके अनुसार प्रोफेषनलस की कमी है। भारत में यात्रा और पर्यटन सबसे बड़ा सेवा क्षेत्र है जो वर्तमान में कुशल और अर्ध-कुशल श्रमिकों सहित लगभग 49 मिलियन लोगों को रोजगार देता है और 2020 तक कार्यबल की मांग लगभग 58 मिलियन तक बढ़ने की उम्मीद है। भारत के होटल और रेस्तरां संघों को सामान्यतः  FHRAI के रूप में जाना जाता है, आतिथ्य उद्योग का प्रतिनिधित्व करने वाले चार क्षेत्रीय संघों का सर्वोच्च निकाय है। FHRAI आतिथ्य उद्योग, शिक्षाविदों, अंतर्राष्ट्रीय संघों और अन्य हितधारकों के बीच सीधे इंटरफेस के रूप में काम करता है। जैसा कि हाल ही में 4 अप्रैल, 2019 को एफएचआरएआई ने एनसीएचएमसीटी के निर्देशन में एक केंद्रीय प्लेसमेंट सेल खोला है, इसमें आतिथ्य उद्योग में विभिन्न क्षेत्रों में संभावित और सफल उम्मीदवारों को विभिन्न अवसर प्रदान किये जायेगे। आतिथ्य क्षेत्र भारतीय अर्थव्यवस्था के किसी भी अन्य क्षेत्र की तुलना में अधिक नौकरियों प्रदान करता है और कोई भी उम्मीदवार जिसे ठीक से प्रशिक्षित किया गया है, उसे सफल होने के बाद नौकरी पाने में मुश्किल नहीं होगी।

इसी प्रकार, पैसिफिक एशिया ट्रैवल एसोसिएशन Pacific Asia Travel Association (PATA) ने भी इस क्षेत्र में ऐसे कुशल पेशेवरों की विशाल आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए, पर्यटन क्षेत्र में कुशल पेशेवरों के पोषण के उभरते महत्व पर जोर दिया है। 2019-23 के अपने एशिया पैसिफिक विजिटर पूर्वानुमान में, (PATA) ने कहा कि एशिया प्रशांत में पर्यटकों की यात्राओं में परिवर्तन का प्रतिशत पिछले दो वर्षों में 5.3 से 5.8ः तक स्थिर वृद्धि पर है, एंव 5.5 की लगातार औसत वार्षिक वृद्धि दर के साथ: प्रति वर्ष। इस तरह के आँकड़े स्पष्ट रूप से आतिथ्य और पर्यटन उद्योग के उभरते रुझानों को दिखाते हैं। और कुशल पेशेवरों की निरंतर आवक किस तरह की जरूरत और आवश्यकताएं हैं।

Also Read:

योग्यता एवं मापदंड

  • बैचलर डिग्री में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवार ने कम से कम 12वीं की परीक्षा किसी मान्यता प्राप्त विद्यालय से या संस्थान से पास की हो।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री में एडमिशन के लिए उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या संस्थान से स्नातक की डिग्री प्राप्त की हो।
  • अंडर ग्रेजुएशन डिप्लोमा में एडमिशन के लिए उम्मीदवारों 12 की परीक्षा एवं पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा के लिए उम्मीदवार ने स्नातक की डिग्री किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से प्राप्त की हो

होटल मैनेजमेंट प्रवेश परीक्षा

  • नेशनल लेवल: NCHM JEE
  • स्टेट लेवल:

कोर्स विवरण

  • 4 वर्षीय: बैचलर डिग्री – 4 वर्षीय डिग्री – मैनेजमेंट एंड कैटरिंग आदि।
  • 3 वर्षीय: बैचलर डिग्री – हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट, हॉस्पिटैलिटी और होटल मैनेजमेंट आदि।
  • 2 वर्षीय – पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री – एमएससी (हॉस्पिटैलिटी और होटल मैनेजमेंट), एमबीए (हॉस्पिटैलिटी और होटल मैनेजमेंट) आदि।
  • डिप्लोमा: होटल एंड हॉस्पिटैलिटी ऑपरेशन आदि।

Visit: COURSES IN HOTEL MANAGEMENT

हाॅस्पिटेलिटी इंडस्ट्री में रोजगार की संभावनाये

सिर्फ एक कोर्स करने के बाद इतना विस्तृत कार्यक्षेत्र किसी अन्य कोर्स में शायद ही उपलब्ध होता होगा। इस कोर्स को करने के पश्चात् छात्र-छात्राऐं न केवल पंच सितारा होटलों में नौकरी पा सकते है बल्कि आज के दौर में इस डिग्री कोर्स का कार्य क्षेत्र काफी विस्तृत हो गया है जिसमें एयरलाइन्स, क्रूज लाइन्स, काॅरपोरेट केन्टीन्स, काॅल सेन्टर्स, रेल्वे केटरिंग सर्विस, रेस्टोरेन्टस, फास्ट फूड रेस्टोरेन्टस, माल्स, मल्टीप्लेक्सेज,स्टाफ एक्सचेंज केन्टीन्स, नर्सिंग होम्स बैंकिग, ट्रेवल्स, औशधि, बीमा, म्यूचल फंड, बीपीओ, खाघ श्रृंखला, उड्डयन, निर्यात-आयात, एफएमसीजी, दूरसंचार, हेल्थकेयर एवं शिक्षण आदि जैसे प्रमुख क्षेत्रों में रोजगार की संभावनाओं से जुड़ जाता है। अपनी रूचि के अनुसार उत्तीर्ण छात्र-छात्राऐं अच्छी तनख्वाह पर नौकरी पाने की असीमित संभावनाओ से जुड़ सकते हैं। वल्र्ड टैवल एंड टूरिज्म कांउसिल की रिपोर्ट के मुताबिक हाॅस्पिटेलिटी सेक्टर में आगामी कुछ सालों में 8 मिलियन नौकरियां होगी । ऐसे में वे सभी युवा जो अतिथि देवो भवः के मूल मंत्र पर इस इंस्टीट्यूट में राह बनाना चाहते है उनके लिए अवसरो की कमी नहीं हैं।

Heritage Institute Of Hotel & Tourism Campus Area: Hotel Management College in Himachal Pradesh | Hotel Management Institute in Agra

होटल मैनेजमेंट कोर्स के लिए देष भर के बडे ष्सिक्षण संस्थान

होटल प्रबंधक में स्नातक प्रदान करने वाले शीर्ष काॅलेजों में से कुछ नीचे दिए गए हैं। ये काॅलेज अपने परिसर में आतिथ्य उद्योग के अन्य पहलुओं में विभिन्न प्रमाण और डिप्लोमा भी प्रदान करते हैं।

  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट एण्ड कैटरिंग टेक्नोलाजी एण्ड न्यूटोशन , पूसा. दिलली।
  • हेरिटेज इंस्टीट्यूट ऑफ होटल एण्ड टूरिज्म आई.एच.एम. आगरा,शिमला

वेबसाइट – www.hihtworld.com, टोल फ्री नंबर – 18005323000

  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट एण्ड कैटरिंग टेक्नोलाजी, आई.एच एम. मुंबई।
  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, लखनऊ

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top